Skip to content

WS Digital

Follow us:

Home » डिजिटल मार्केटिंग क्या है, डिजिटल मार्केटिंग कैसे करें

डिजिटल मार्केटिंग क्या है, डिजिटल मार्केटिंग कैसे करें

डिजिटल मार्केटिंग (digital marketing)

इंटरनेट के बढ़ते हुए युग में डिजिटल मार्केटिंग का नाम अक्सर चर्चा में रहता है। आपने भी कहीं ना कहीं तो डिजिटल मार्केटिंग के बारे में जरूर सुना होगा। अगर आपके मन में भी यह सवाल आता है, कि डिजिटल मार्केटिंग क्या है डिजिटल मार्केटिंग कैसे की जाती है, डिजिटल मार्केटिंग के क्या-क्या फायदे होते हैं, तथा डिजिटल मार्केटिंग का पूरा कांसेप्ट क्या है।

तो आप इस वक्त एकदम सही जगह पर मौजूद है, क्योंकि इस लेख के माध्यम से हम आपको डिजिटल मार्केटिंग के विषय से जुड़ी संपूर्ण जानकारी विस्तार से बताने वाले हैं।

डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?

अगर बात की जाएगी डिजिटल मार्केटिंग क्या है, तो डिजिटल मार्केटिंग शब्द दो शब्दों से मिलकर बना हुआ होता है, “डिजिटल” और “मार्केटिंग” 

इसके लिए सबसे पहले आपको मार्केटिंग का मतलब पता होना जरूरी है। किसी भी बिजनेस के प्रोडक्ट या सर्विस को ग्राहकों तक पहुंचाना ही मार्केटिंग कहलाता है। 

और मार्केटिंग के लिए अलग-अलग डिजिटल टूल्स का इस्तेमाल करना डिजिटल मार्केटिंग कहलाता है। जिसके अंतर्गत फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब, गूगल जैसे अलग-अलग टूल शामिल है।

अगर हम डिजिटल मार्केटिंग को आसान भाषा में समझे तो अलग-अलग डिजिटल चैनल्स का इस्तेमाल करके किसी कंपनी की मार्केटिंग करना डिजिटल मार्केटिंग कहलाता है। 

डिजिटल मार्केटिंग अलग-अलग तरीकों से की जाती है, जिनके बारे में आपको नीचे विस्तार से जानकारी दी गई है :-

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार :-

जैसा कि हमने आपको बताया कि डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत अलग-अलग डिजिटल चैनल्स का इस्तेमाल करके किसी भी बिजनेस का ऑनलाइन प्रमोशन किया जाता है, या फिर ऑनलाइन मार्केटिंग की जाती है, तो ऐसे में डिजिटल मार्केटिंग के अनेक प्रकार होते हैं, जिनका इस्तेमाल करके किसी बिजनेस को ऑनलाइन प्रमोट किया जाता है :-

1. Search Engine Optimisation

seo

आज के समय आपके मन में यदि कोई भी सवाल होता है, तो आप उसे डायरेक्ट गूगल पर जाकर सर्च कर लेते हैं। जिसे अगर एक उदाहरण के माध्यम से समझा जाए तो यदि आपको एक डॉक्टर की जरूरत है, तो आप गूगल पर जाकर “Doctor Near Me” सर्च करते हैं, या फिर इससे संबंधित कोई कीवर्ड सर्च करते हैं। तो उसके बाद आप सामने कई सारी रिजल्ट आते हैं।

तो इसी तरीके से कोई भी बिजनेस अपने आप को गूगल पर रैंक करवाकर बिजनेस जनरेट कर सकता है, जिसको सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कहा जाता है। Search Engine optimisation को अगर आसान भाषा में समझा जाए, तो इसका मतलब किसी भी बिजनेस के लिए गूगल के माध्यम से बिजनेस जनरेट करना होता है।

जिसमें आप अपने बिजनेस वेबसाइट को गूगल के ऊपर अलग-अलग कीवर्ड पर रैंक करवा कर वहा से अपने बिजनेस या सर्विस को सेल कर सकते हैं।

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन एक काफी लंबी प्रोसेस होती है, जिसे आप नीचे दी गई लिंक के माध्यम से आसानी से समझ सकते है।

2. सोशल मीडिया मार्केटिंग

social media marketing

आज के समय में सोशल मीडिया काफी तेजी से पॉपुलर हो रहा है। आज के समय शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जो सोशल मीडिया पर एक्टिव नहीं है। तो ऐसे में किसी भी बिजनेस के लिए सोशल मीडिया मार्केटिंग काफी महत्वपूर्ण होता है।

अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से किसी भी बिजनेस को प्रमोट करना, उस बिजनेस की ब्रांडिंग करना या फिर उस बिजनेस के लिए सेल जनरेट करना ही सोशल मीडिया मार्केटिंग कहलाता है। 

आपने अक्सर देखा होगा कि बड़ी-बड़ी कंपनियों के अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स होते हैं, और उन अकाउंट पर उन कंपनियों के द्वारा काफी अच्छा कंटेंट शेयर किया जाता है, जो लोगों के साथ काफी इंगेज करता है, और लोग उनसे जुड़ते रहते हैं। तो उसी तरह से कोई भी बिजनेस सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके अपने बिजनेस को प्रमोट कर सकता है। और यह पूरी प्रोसेस सोशल मीडिया मार्केटिंग कहलाती है।

अपने कस्टमर के साथ इंटरनेट करना तथा उसके साथ जुड़े रहने का सबसे अच्छा तरीका सोशल मीडिया मार्केटिंग होता है। चाहे आपका बिजनेस किसी भी कैटेगरी का हो, आपके कस्टमर सोशल मीडिया पर जरूर मौजूद होंगे, तो ऐसे में आप सोशल मीडिया मार्केटिंग करके अपने कस्टमर तक पहुंच सकते हैं, तथा उनके साथ इंटरेक्ट कर सकते हैं।

3. वीडियो मार्केटिंग

आज के समय अधिकांश ऑडियंस वीडियो कंटेंट देखना पसंद करते हैं। तो ऐसे में वीडियो मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। अलग-अलग प्लेटफार्म के अंतर्गत अपने बिजनेस से रिलेटेड वीडियो कंटेंट अपलोड करके अपने बिजनेस को प्रमोट करना ही वीडियो मार्केटिंग कहलाता है।

वीडियो मार्केटिंग के अंतर्गत यूट्यूब सबसे महत्वपूर्ण प्लेटफार्म है, इसके अलावा फेसबुक इंस्टाग्राम पर भी आप वीडियो कंटेंट शेयर कर सकते हैं।

अगर वीडियो कंटेंट के एग्जांपल की बात की जाए, तो इसमें सबसे ऊपर हम फिजिक्स वाला का नाम रखना चाहेंगे। आपने भी अक्सर फिजिक्स वाला का नाम कहीं ना कहीं तो जरूर सुना होगा, जो आज के समय एक यूनिकॉर्न कंपनी बन गई है। फिजिक्स वाला कंपनी ने सिर्फ वीडियो मार्केटिंग के जरिए अपनी कंपनी को एक यूनिकॉर्न बना दिया है। जिसके अंतर्गत उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल के माध्यम से अपने बिजनेस को प्रमोट करके अपनी कंपनी की मार्केटिंग की है।

फिजिक्स वाला की तरह ऐसी कंपनियां है, जो आज के समय वीडियो मार्केटिंग के माध्यम से काफी अच्छा बिजनेस कर रहे हैं। 

डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत आज के समय में वीडियो मार्केटिंग सबसे बेस्ट तथा सबसे सस्ता तरीका होता है, जिसके माध्यम से आप अपने बिजनेस को प्रमोट कर सकते हैं।

4. Ads या PPC

किसी भी बिजनेस के लिए तुरंत रिजल्ट लेने के लिए यह सबसे अच्छा ऑप्शन होता है। अलग-अलग प्लेटफार्म पर अपने प्रोडक्ट या सर्विस रिलेटेड एड्स चलाकर बिजनेस जनरेट करना ही PPC कहलाता है।

इसके अंतर्गत आप अपने बिजनेस से रिलेटेड एड्स अलग-अलग प्लेटफार्म के ऊपर चला सकते हैं, तथा वहां से लिस्ट जनरेट कर सकते हैं, या फिर सेल जनरेट कर सकते हैं।

एड्स हराने के लिए मुख्य रूप से फेसबुक एड तथा गूगल एड का इस्तेमाल किया जाता है। जिसके अंतर्गत आप फेसबुक, इंस्टाग्राम, गूगल, यूट्यूब जैसे प्लेटफार्म पर अपनी सर्विस या प्रोडक्ट से संबंधित ads चला सकते है।

5. वेबसाइट डेवलपमेंट

website design

Website development भी डिजिटल मार्केटिंग का ही एक पार्ट माना जाता है, क्योंकि यदि कोई भी बिजनेस ऑनलाइन जाना चाहता है, या फिर ऑनलाइन अपनी मार्केटिंग करना चाहता है, तो उसके लिए सबसे महत्वपूर्ण वेबसाइट होती है। 

6. ईमेल मार्केटिंग

ईमेल मार्केटिंग भी डिजिटल मार्केटिंग का एक काफी पॉपुलर तरीका है, जिसके माध्यम से आप अपने कस्टमर के साथ लगातार कनेक्ट रह सकते हैं। 

अगर ईमेल मार्केटिंग को कुछ उदाहरण के माध्यम से समझा जाए तो जब भी आप अमेजॉन या फ्लिपकार्ट जैसे कंपनियों की एप्लीकेशन पर जाकर रजिस्ट्रार करते हैं, तो वहां पर आप अपना ईमेल एड्रेस इंटर कर देते हैं, और उसके बाद जब भी उन कंपनियों पर कोई ऑफर आता है, कोई डिस्काउंट होता है या फिर कोई स्पेशल सेल होती है, या फिर उनको आपको कुछ भी मैसेज सेंड करना होता है, तो वह अक्सर आपको ईमेल कर देते हैं, इसी को ईमेल मार्केटिंग कहा जाता है।

ईमेल मार्केटिंग के अंतर्गत आप अपने कस्टमर्स की एक ईमेल लिस्ट तैयार कर लेते हैं, तथा आप जब भी कोई नई सेल निकालते हैं या फिर नया ऑफर लेकर आते हैं, या फिर कोई भी सूचना आप अपने कस्टमर तक पहुंचाना चाहते हैं, तो आप डायरेक्ट उनको ईमेल कर सकते हैं। यह पूरी प्रोसेस ईमेल मार्केटिंग कहलाती है। 

ईमेल मार्केटिंग करने के लिए अलग-अलग प्रकार के टूल्स का इस्तेमाल किया जाता है, जिसके माध्यम से आप एक क्लिक से ही हजारों लोगों को ईमेल सेंड कर सकते हैं। किसी लीड्स को कन्वर्ट करने का यह एक काफी अच्छा तरीका होता है।

तो इन अलग-अलग तरीकों का इस्तेमाल करके किसी भी बिजनेस की डिजिटल मार्केटिंग की जाती है, जिसके अंतर्गत हम इन अलग-अलग तरीकों के माध्यम से अलग-अलग जगहों पर बिजनेस को प्रमोट कर सकते हैं, तथा उस बिजनेस के लिए सेल जनरेट कर सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग क्यों जरूरी है ?

किसी भी बिजनेस के लिए डिजिटल मार्केटिंग काफी महत्वपूर्ण होती है, तथा उसकी मार्केटिंग के अंतर्गत डिजिटल मार्केटिंग सबसे इंपोर्टेंट पार्ट होता है। इसके प्रमुख कारण निम्न है :-

1. आज के समय अधिकांश लोग सोशल मीडिया पर मौजूद है, तो आप सोशल मीडिया मार्केटिंग का इस्तेमाल कर सके अधिक से अधिक लोगों के साथ डिजिटल मार्केटिंग की सहायता से पहुंच सकते हैं।

2. डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत आप अपने द्वारा चलाए गए कैंपियन को एनालाइज कर सकते हैं, आप यह आसानी से पता लगा सकते हैं, कि आपके कैंपेन से रिजल्ट आ रहा है या फिर नहीं आ रहा है, आपको कुछ चेंज करने की जरूरत है, या फिर आपको आगे क्या स्टेप लेने की जरूरत है, यह सारी चीजें आप डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत आसानी से एनालाइज कर सकते हैं।

3. डिजिटल मार्केटिंग का सबसे बड़ा एडवांटेज यह होता है, कि इसके लिए आपको सिर्फ एक लैपटॉप की जरूरत होती है, या फिर एक कंप्यूटर की जरूरत होती है।

4. डिजिटल मार्केटिंग की मदद से आप कम से कम इन्वेस्टमेंट के अंतर्गत अधिक से अधिक रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं इसके अलावा आप अपनी इन्वेस्टमेंट को पूरी तरह से एनालाइज कर सकते हैं।

5. यदि आप डिजिटल मार्केटिंग का इस्तेमाल करते हैं, तो इसमें आप अपना पूरा डाटा प्राप्त कर सकते हैं, कि कितने लोगों ने आपके बिजनेस के अंतर्गत इंटरेस्ट दिखाया है, किन लोगों को आपके बिजनेस में इंटरेस्ट है किन लोगों को आपको बिजनेस में इंटरेस्ट नहीं है, कौन सी ऐसी ऑडियंस है, जो आपके बिजनेस के लिए सही है, यह सारी चीजें आप डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत आसानी से एनालाइज कर सकते हैं।

डिजिटल मार्केटिंग कैसे करें ?

दोस्तो डिजिटल मार्केटिंग करने का बेस्ट तरीका नियम है :-

1. यदि आप किसी भी बिजनेस के लिए डिजिटल मार्केटिंग करना चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको अपने के लिए एक डिजिटल मार्केटिंग स्ट्रेटजी का प्लान तैयार करना है। जिसमें आपको यह डिसाइड करना है, कि कौन सी आपकी टारगेट ऑडियंस होने वाली है, कौन से ऐसे लोग हैं जो आपके प्रोडक्ट या सर्विस के अंतर्गत इंटरेस्टेड हो सकते हैं। इसके अलावा आपकी टारगेट ऑडियंस कहां पर मौजूद हो सकती है, क्या वह इंस्टाग्राम पर मौजूद है, या फिर linkdin पर मौजूद है यह सारी चीजें आपको डिजिटल मार्केटिंग प्लान के अंतर्गत तैयार करनी है।

2. उसके बाद आपको अपने बिजनेस के लिए एक वेबसाइट तो बनानी ही है, जिसमें आपको अपने बिजनेस रिलेटेड पूरी इंफॉर्मेशन शेयर करनी है, आप अपने कैटेगरी के अनुसार एक बेस्ट वेबसाइट बनवा सकते हैं। 

3. यह सब करने के बाद आपको अपने बिजनेस के लिए डिजिटल मार्केटिंग स्टार्ट कर देना है। जिसमें आपको अपनी डिजिटल मार्केटिंग प्लान के अकॉर्डिंग सब कुछ अच्छी तरह से एग्जीक्यूट करना है।

4. उसके बाद आपको अपने रिजल्ट स्कोर एनालाइज करना है कि आपको इससे रिजल्ट्स मिल रहे हैं, या फिर नहीं मिल रहे हैं, यदि आपको किसी भी कारण मंच रिजल्ट्स नहीं मिल पा रहे हैं, तो आपको अपनी डिजिटल मार्केटिंग स्ट्रेटजी को देखना है, कि उसमें कुछ प्रॉब्लम तो नहीं है, या फिर कौन सी ऐसी प्रॉब्लम है, जिस कारण आपको डिजिटल मार्केटिंग से रिजल्ट नहीं मिल पा रहे हैं, आपको उन प्रॉब्लम को फाइंड आउट करके सॉल्व करने का प्रयास करना है।

तो यहां पर हमने आपके साथ डिजिटल मार्केटिंग से जुड़ी हर एक जानकारी आसान भाषा में शेयर की है, जिसमें हमने आपको बताया है, कि डिजिटल मार्केटिंग क्या होती है, यह किस तरह से कार्य करती है, डिजिटल मार्केटिंग को किन अलग-अलग भागों में बांटा गया है, और आप किस तरह से अपने बिजनेस के लिए डिजिटल मार्केटिंग कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.